Madhuparna

मेरे हमनफ़स by Madhuparna

मेरे हमनफ़स, मेरे हमनवा, मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे मैं हूँ दर्द-ए-इश्क़ से जाँ-ब-लब, मुझे ज़िंदगी की दुआ न दे मेरे दाग़-ए-दिल से है रौशनी, इसी रौशनी से …

Read More